Bollywood

गरीबी की वजह से कभी-कभी छोटा चोखा और दूधिया चमकते थे खेसारी लाल यादव, आज हैं करोड़ों के मालिक, जाने कैसे बदली किस्मत

खेसारी लाल यादव भोजपुरी की दुनिया की मशहूर एक्ट्रेस और खेसारी लाल यादव ने अपनी मेहनत के लिए काफी बड़ा नाम हासिल कर लिया है। खेसारी लाल यादव किसी पहचान के मोहताज नहीं हैं बल्कि उन्होंने अपने मेहनत के लिए अपना खुद का बहुत बड़ा नाम बना लिया है।

छवियां 2023 03 17T134230.432

आपको बताएं कि यहां तक ​​पहुंचने के लिए खेसारी लाल यादव को कई सारी मुश्किलों का सामना करना पड़ा है। एक समय था जब खेसारी लाल यादव अपनी जिंदगी में आगे नहीं बढ़ रहे थे लेकिन आज एक ऐसा समय आ गया है जब खेसारी लाल यादव अपने सभी मुश्किलों का सामना करके हर मुश्किलों से बाहर निकल चुके हैं।

छवियां 2023 03 17T134210.614

कभी-कभी खेसारी लाल यादव बेहद गरीब होते थे और गरीब होने के कारण उन्हें दूध या फिर लिट्टी चोखा बेचा जाता था। खेसारी लाल यादव अपनी मेहनत के आगे बढ़ते हैं।

छवियां 2023 03 17T134133.863

खेसारी लाल यादव का जन्म 15 मार्च 1986 को बिहार के सीवान में हुआ। खेसारी का असली नाम शत्रुघ्न कुमार यादव है। उनका बचपन काफी गरीबी में बीता है। खेसारी सात भाई हैं। उनके पिता मंगरू लाल यादव कड़ी मेहनत करके अपने सभी बच्चों को पालते थे। ऐसे में पिता का हाथ बंटाने के लिए खेसारी लाल भी काम करने लगे थे। इतना ही नहीं, वह गाँव में लण्डा डांस करके भी पैसे खाते थे, जिससे परिवार की आर्थिक मदद हो जाती है।

छवियां 2023 03 17T134100.575

बता दें कि खेसारी लाल यादव जॉब में भी कामयाब हो गए हैं। लेकिन वह शुरू से मनोरंजन जगत में आना चाहते थे। इसके लिए उन्होंने फौज की नौकरी में वापसी का फैसला लिया। इसके बाद वह अपनी पत्नी को लेकर दिल्ली आ गए थे, यहां पर उन्होंने लिट्टी-चोखा बेचने का काम शुरू किया। इसी पैसे से वह अपना घर चलाता था और लिट्टी-चोखा बेचकर ही उसने अपना पहला एल्बम के लिए पैसा जमा किया था।

खेसारी लाल यादव का पहला एल्बम फ्लॉप साबित हुआ था, लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी। अभिनेता धीरे-धीरे सही भोजपुरी सिनेमा में अपने पैर जमाने के लिए। इसके बाद इसकी सफलता का दौर शुरू हुआ। कई हिट एलबम देने के बाद खेसारी ने अभिनय के क्षेत्र में कदम रखा और यहां भी वे छा गए। उनकी पहली फिल्म ‘साजन चले सुसुराल’ है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button